Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
barwani-esi halat me Mila navjat ki karna pada indore refer newborn baby boy found abandoned in bushes in barwani of MP
BARWANI: ऐसी हालत में मिला नवजात बच्चा कि करना पड़ा Indore रेफर

कंटीली झाड़ियों में मिला नवजात शिशु

सारे शरीर पर पड़ गए थे खरोंचों के निशान

11 JANUARY 2023, WEDNESDAY, BABYBOY, BARWANI, MP

मोनिका आर्य

barwani-esi halat me Mila navjat ki karna pada indore refer newborn baby boy found abandoned in bushes in barwani of MP

बड़वानी जिले में एक नवजात बच्चा झाड़ियों में मिला। उसके पूरे शरीर को कांटों ने लहुलुहान कर दिया था। उसकी हालत इतनी खराब थी कि स्थानीय अस्पताल ने उसे देखते ही हाथ खड़े कर दिए और इंदौर रेफर कर दिया।

यहां घटी घटना

पालोना को इस घटना की सूचना रायसेन सीडब्ल्यूसी श्रीमती सुनीता आर्य से मिली। उन्होंने एक खबर को पालोना से शेयर किया था। इसके मुताबिक, बड़वानी जिले के ठीकरी नगर की घटना है ये। बुधवार देर शाम कांकरिया गांव में पशु के बाड़े में एक नवजात बच्चा मिला। यह शिशु झाड़ियों और काठियों के बीच मिला।

barwani-esi halat me Mila navjat ki karna pada indore refer newborn baby boy found abandoned in bushes in barwani of MP

गंभीर हालत में था नवजात बच्चा

नवजात के शरीर पर खरोंचे लगी हुईं थीं। उसकी स्थिति क्रिटिकल थी।

स्थानीय खबरों के अनुसार, उसके गुप्तांग में भी चोट लगी थी। सबसे पहले सरपंच नारायण चौहान को शिशु की सूचना मिली। उन्होंने एएनएम रंजना वर्मा को इनफॉर्म किया। एएनएम ने 108 एम्बुलेंस को फोन किया। 108 एम्बुलेंस के ईएमटी राजेश यादव और पायलट मिथुन कन्नौजे ने  नवजात शिशु को ठीकरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया।

शिशु को ठीकरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। वहां डॉक्टर राजवीर तोमर और शिवानी सोलंकी ने उसका प्राथमिक उपचार किया। नवजात बच्चा ऐसी हालत में था कि डॉक्टर्स ने तत्काल ही शिशु को इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल रेफर कर दिया।

पालोना का पक्ष

पालोना ने इस घटना के संबंध में सीडब्ल्यूसी बड़वानी श्री आनंद सोनी और चाइल्ड लाइन ठीकरी के कॉर्डिनेटर श्री संजय आर्य से बात की। हम जानना चाहते थे कि वहां शिशु की हालत कैसी है। हमें मालूम चला कि उसकी स्थिति में सुधार है।

उन्होंने बताया कि चाइल्डलाइन और सीडब्ल्यूसी को भी नवजात शिशु की सूचना उसे इंदौर रेफर किए जाने के बाद मिली। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है।

ये वीडियो information के साथ साथ awareness के उद्देश्य से भी बनाया गया है।

🔻

@PaaLoNaa एक लड़ाई है, जो नवजात बच्चों के जीवन को बचाने के लिए लड़ी जा रही है। इसमें हमें आपका सहयोग और समर्थन चाहिए। इसलिए चैनल को लाइक करना न भूलें। चैनल का लिंक है 👇

https://www.youtube.com/PAALONAA

🔻

ये भी पढ़ें

Meerut: अस्पताल के शौचालय में प्रसव! आखिर क्यों?

 

इसके कंटेंट को, वीडियोज को अपने सर्किल में शेयर करें, ताकि कहीं कोई अनजाने में भी ये गलती न दोहरा बैठे। लोगों को #safesurrender के बारे में जानकारी हो। उन्हें पता हो कि नवजात शिशु को कहीं #असुरक्षित छोड़ना कानूनन अपराध है।

🔻

किसी वजह या मजबूरी से यदि शिशु को पालने में समर्थ नहीं हैं तो ⬇️

✅ उसे सरकार को सुरक्षित सौंप दें।

✅ सार्वजनिक स्थान पर लगवाए गए पालनों में रख दें।

❎ संरक्षण के बिना, सुरक्षा के बिना किसी भी नवजात शिशु को कहीं छोड़ना नैतिक, मानवीय और कानूनी रूप से जघन्य अपराध है।

ये है सरकार की सेफ सरेंडर पॉलिसी👇🏻

 

🔻

जब भी कहीं कोई शिशु परित्यक्त अवस्था में जीवित मिले, आम व्यक्ति की जिम्मेदारी ये होनी चाहिए 👇

🔻

अगर आपकी जानकारी में भी किसी नवजात शिशु को कहीं छोड़ने, सौंपने या मारने की घटना आए, तो @PaaLoNaa से शेयर करना ना भूलें। 9798454321 पर व्हॉट्सअप के जरिए आप सूचनाएं हम तक पहुंचा सकते हैं।

🔻

याद रखें, कि “पालोना देश का पहला और अकेला ऐसा अभियान है”, जो नवजात शिशुओं के साथ हो रही इस क्रूरता के खिलाफ लगातार आवाज उठा रहा है और इसे रोकने के लिए कृत संकल्प है।

Madhya Pradesh, PaaLoNaa News, Uncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Make a Donation
Paybal button
Become A volunteer